इंदौर 14 महीने की बच्ची के साथ दुष्कर्म करने वाला पकड़ा गया, अब फांसी की सजा

यह खबर है इंदौर की, जहां राजवाड़ा में एक व्यक्ति ने 14 महीने की छोटी सी बच्ची के साथ अमानवीय कृत्य किया था| बहुत ही दुखद खबर है यह कोई भी साधारण व्यक्ति जिसे अपनी बहन बेटी माताओं से प्रेम होगा वह ऐसे क्रूरता भरे काम नहीं कर सकता है|

 दुष्कर्म करने वाला पकड़ा गया था, अब फांसी की सजा

लेकिन उस व्यक्ति ने ऐसा किया| और इस पर राज्य सरकार ने करते हुए कड़ी कार्यवाही करते हुए मात्र 22 दिनों में व्यक्ति की सजा का ऐलान कर दिया| अब आप जानते हैं नए कानून के अनुसार इस व्यक्ति को क्या सजा मिलने जा रही है|

कानून के अनुसार मिलेगी फांसी

मोदी सरकार के नए कानून का उद्घाटन हो चुका है| अगर आपको जानकारी नहीं तो मन में सवाल जरूर होगा कि हम कौन से कानून की बात कर रहे हैं| हम बात कर रहे हैं बच्चों के साथ हो रही अपराधिक घटनाओं को रोकने के लिए बनाए हुए कानून का| यह तो आपको ही पता होगा नरेंद्र मोदी ने कानून बनाया था कि 12 साल से कम उम्र की बच्चियों के साथ दुष्कर्म करने वाले को फांसी की सजा दी जाएगी|


प्रशासन ने 22 दिनों के अंदर ही मामले की छानबीन कर, अपराध की पुष्टि करके| अपराधी की सजा का ऐलान कर दिया है| जल्द ही निश्चित समय पर उसे फांसी दी जाएगी|


अच्छी बात तो यह है कि अबकी सरकार किसी एक जाति विशेष का समर्थन करने वाली नहीं है इंसानियत का समर्थन करती है और इस का जीता जागता सबूत आप देख सकते हैं आज तक कभी किसी बलात्कारी और दुष्कर्म करने वाले व्यक्ति को उसके अपराधों के लिए कड़ी सजा नहीं दी गई थी| यहां तक की पिछली सरकार के शासनकाल में आतंकवादी तक को फांसी की सजा नहीं दी जाती थी आतंकवादी का समर्थन किया जाता था|


शायद आपको याद होगा कांग्रेस के गुलाम नबी ने आतंकवादी कसाब की फांसी का विरोध किया था| लेकिन अब वक्त बदल रहा है और हम इस बदलते वक्त का समर्थन करते हैं| उम्मीद है आप भी कर रहे होंगे|



हमारी वेबसाइट के न्यूज़लेटर को ईमेल के माध्यम से सब्सक्राइब कीजिए और नई खबरें अपने ईमेल बॉक्स में पाए|